Close

    वृद्ध एवं अपंग गृह, रिवाड़ी

    हरियाणा सरकार द्वारा वृद्ध एवं दिव्यांग व्यक्तियों को सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से वृद्ध एवं निराश्रित गृह, रिवाड़ी में चलाया जा रहा है। इस गृह की क्षमता 100 लोगों की है। वर्तमान में इस गृह में 14 संवासी रह रहे हैं व खान-पान, कपड़े तथा बिस्तरे, चिकित्सा एवं मनोरंजन जैसी सुविधाएं मुफ्त में प्राप्त कर रहे है। इसके अतिरिक्त प्रतिवर्ष प्रत्येक संवासी को 50/- रू0 प्रतिमाह जेब खर्च के रूप में भी दिए जाते है। 60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्ध पुरूष/महिलाएं एवं 45 वर्ष से अधिक आयु के दिव्यांग पुरूष एवं महिलाएं जिनकी आजीविका का कोई साधन न हो और न ही कोई उनकी देखभाल करने वाला हो वृद्ध एवं निराश्रित गृह, रिवाड़ी में दाखिला लेने का पात्र है। वर्ष 2019-20 के लिए अमला तथा अन्य खर्चों के लिये 35.55 लाख (वास्तविक) तथा 35.70 लाख (संशोधित) बजट राशि का प्रावधान था, जिसके विरूद्ध 33.70 लाख रू0 का खर्चा हुआ था। तथा भवन निर्माण के लिये 610.00 लाख (वास्तविक) तथा 600.00 लाख (संशोधित) रू0 बजट राशि का प्रावधान था, जिसके विरूद्ध 244.46 लाख रू0 का खर्चा हुआ था। वर्ष 2020-21 के लिए अमला तथा अन्य खर्चों के लिये 35.23 लाख तथा भवन निर्माण के लिये 1000.00 लाख रू0 बजट राशि का प्रावधान है। वृद्ध एवं निराश्रित गृह के निर्माण के लिए दिनांक 29.06.2020 को 619.91 लाख रूप्ये स्वीकृत/जारी किए गए।